शुक्रवार, 30 अक्तूबर 2009

चना सरसों में सटोरिया गति विधि सक्रिय

ग्वार आज भी कल की तरह ही चला और दिसंबर २५०० के आस पास ही घूमता रहा !मोसम साफ रहने और नहरी पानी की कमी से चना ,सरसों की बिजाई प्रभावित हुई है जिससे वायदा बाजार में दोनों जिंसों में तेजी का बोलबाला रहा !हाजिर बाजार में चना सरसों की उतनी मांग और तेजी नही है जितनी वायदा बाजार में निकली है !चना बीकानेर २४०० के भाव चल रहे है और मांग भी नही है इसकी एक वजह तो स्टोक लिमिट का कम होना है !सटोरियों की बात सुने तो उनका कहना है की किसी एग्रो कोमोडिटी में इस साल मंदी का व्यापर नही करना चाहिये!कारण पूछने पर बताते है ये बहुत बुरे अकाल का साल है !इस साल यदि आवश्यक वस्तुओं की निगरानी में सरकार ने ढील रखी तो महंगाई और जारी रहेगी !जिसका भरपूर फायदा बडे सटोरियों को मिलेगा !अनाज व्यापारी तो अकाल की वजह से वेसे ही परेशान है मंडियों में कमजोर आवक की आशंका के चलते कई रोजगारों पर इसका असर होगा !

1 टिप्पणी:

परमजीत बाली ने कहा…

जानकारी के लिए आभार।