गुरुवार, 8 अप्रैल 2010

चना लिमिट से किसानो में रोष

चना की आमदनी बीकानेर में दस हजार बोरी से ज्यादा रोजाना हो रही है भाव २१०० मन्डी में नीलामी से बिक रहा है अभी तीन चार दिनों से व्यापारियों को मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है कारण राजस्थान सरकार की लगाई गई स्टाक लिमिट जो दाल दलहन मिलाकर १००० किवंटल है और एक महीने मॉल बेचना जरूरी १ अब इस आमदनी में केसे लोग चना ले कर रखेंगे और केसे इसका कारोबार करेंगे ?दस दिन से चर्चा है की किसानो की परेशानी मिटाने के लिए लिमिट बड़ी कर दी जाएगी पर अब तक तो कुछ हुआ नही आज तंग आकर किसानो ने मण्डी के गेट बंद कर दिए और नीलामी बंद करवा दी !बाद में पुलिस प्रसासन ने गेट खुलवाए !किसानो का कहना है की एक तो बिजली की कमी से चने की सिंचाई में कमी रहने से फसल कमजोर हुई उपर से लिमिट ने भाव कम कर रखे हैं सरकार को चाहिए की फसल के समय इस तरह बंदिस हटाये जिससे किसानो में रोष नही हो !लिमिट लगाते समय भी ना समझी से कई बार सरकार को फेर बदल करना पड़ा था और फजीहत भी हुई १अब तो कम से कम व्यवहारिक बात लागू करे !

1 टिप्पणी:

Admin ने कहा…

बहुत अच्छा । बहुत सुंदर प्रयास है। जारी रखिये ।

आपका लेख अच्छा लगा।


अगर आप हिंदी साहित्य की दुर्लभ पुस्तकें जैसे उपन्यास, कहानी-संग्रह, कविता-संग्रह, निबंध इत्यादि डाउनलोड करना चाहते है तो कृपया अपनी हिंदी पर पधारें । इसका पता है :

www.apnihindi.com